झारखंड की प्रत्यर्पण एवं पुनर्वास नीति 2009 Mcq

झारखंड की प्रत्यर्पण एवं पुनर्वास नीति 2009 Mcq |Jharkhand Extradition and Rehabilitation Policy 2009 MCQ| jharkhand ke pratyarpan or punarvas neti 2009 Practice set

jpsc

झारखंड की प्रत्यर्पण एवं पुनर्वास नीति 2009 Mcq

झारखंड की प्रत्यर्पण एवं पुनर्वास नीति 2009 Mcq for JPSC,Best updated question paper for JPSC PRE ,Best Mcq for JSSC CGL ,practice set for jharkhand police ,objective question for panchayat sachiv,,Jharkhand Extradition and Rehabilitation Policy 2009 MCQ,jharkhand ke pratyarpan or punarvas neti 2009 Practice set,

Q 1. प्रत्यर्पण एवं पुनर्वास नीति, 2009 के तहत गठित स्क्रीनिंग समिति का अध्यक्ष कौन होता है?

(A) पुलिस महानिदेशक

(B) उपायुक्त

(C) पुलिस अधीक्षक

(D) पुलिस उपाधीक्षक

Q2. प्रत्येक जिला में प्रत्यर्पण करने वाले उग्रवादियों के लिए गठित पुनर्वास समिति का अध्यक्ष?

(A) पुलिस अधीक्षक

(B) आयुक्त

(C) जिला न्यायाधीश

(D) जिला दंडाधिकारी

Q 3. प्रत्यर्पण एवं पुनर्वास नीति 2009 के तहत कितनी राशि पुनर्वास अनुदान के रूप में कितनी राशि दिए जाने का प्रावधान है?

(A)100000 रूपया

(B) 250000 रूपया

(C) 40000 रूपया

(D) 200000 रूपया

Q 4 प्रत्यर्पण करने वाले उग्रवादी द्वारा रॉकेट लांचर/ एल एमजेल का समर्थन करने पर अनुदान के अतिरिक्त कितनी राशि देने का प्रावधान प्रत्यर्पण पुनर्वास नीति में किया गया है ?

(A) 100000 रूपया

(B) 50,000 रूपया

(C) 40000 रूपया

(D) 200000 रूपया

Q 5. प्रत्यर्पण एवं पुनर्वास नीति 2009 के तहत करने वाले उग्रवादी को निम्न में से क्या प्रदान किया जाएगा ?

(A) पुनर्वास अनुदान के रूप में 250000 तथा ₹3000 प्रति माह की वृत्ति पर 1 वर्ष तक व्यवसायिक प्रशिक्षण, 4 डिसमिल जमीन आवाज निर्माण हेतु 50,000 रुपया।

(B) उसके परिवार को निशुल्क चिकित्सा उग्रवादी को तथा उसके पुत्र – पुत्रियों को मैट्रिक तथा निशुल्क शिक्षा।

(C) उपरोक्त दोनों

(D) A और B में से कोई नहीं

Q 6. प्रत्यर्पण नीति के तहत दी जाने वाले पुरस्कार राशि के आधार पर कितने श्रेणियों में विभाजित किया जाता है ?

(A) 5

(B) 15

(C) 10

(D) 20

ANSWER

:– 1.C 2. D 3.B  4. A 5.C  6.C

Read also : झारखंड की पुनस्थार्पन एवं पुनर्वास नीति

: खोरठा भाषा शिक्षण

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *