महली जनजाति |Mahli Tribe in Jharkhand|झारखंड में महली जनजाति

जनजाति

महली जनजाति

महली जनजाति का परिचय (Introduction to the Mahli Tribe)

महली झारखंड की शिल्पी जनजाति है, जो बास की कला में दक्ष एवं प्रवीण मानी जाती है। ये मुख्य रूप से रांची लोहरदगा, गुमला, सिमडेगा, सिंहभूम , संथाल परगना , हजारीबाग, धनबाद ,आदि पाए जाते हैं ।महली प्रोटो ऑस्टेलायड प्रजाति से संम्बधित है। इनमे “बी ” रक्त समूह की अधिकता होती है।

महली पाँच उपजातियों मे बंटें हुए है:–

1. बाँस फोड़ महली– बांस से जुड़ा हुआ कार्य करते हैं।

2. पातर महली — बांस के उपरण बनाना खेती कार्य करना, यह मुख्य रूप से तमाड़ क्षेत्र में पाये जाते है।

3. सुलकी महली — खेती और मजदूरी कार्य

4. ताँती महली — शादी विवाह के अवसर पर पालकी ढोने एवं बाजा बजाने का कार्य करते हैं ।

5. महली मुंडा —- मजदूरी एवं कृषि कार्य।

महली के सांस्कृतिक विरासत बहुत धनी है ।संगीत सृजन नाम की संस्था के अधिकांस सदस्य महली जनजाति के है। नागपुरी के महान गीतकार घासीराम इस जनजाति उपशाखा के थे ,जिन्हे लोगो ने “नागपुरी की विद्यापति ” कहा है। इनका सर्वोच्च देवता सुरजी देवी है। अन्य देवताओं में “बढ़ पहाड़ी मनसा देवी प्रमुख है “।महली पुरखों की पूजा “गोड़ाम साकी ” के रूप करते हैं ।बंगरी,हरियरी ,नवाखानी आदि पर्व मनाते हैं।सिल्ली क्षेत्र मे ” उतूर पूजा ” करते हैं।

जनजाति.jpeg 1

झारखंड में महली जनजाति

महली जनजाति की जनगणना

वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार झारखंड में महली जनजाति की कुल आबादी 1,52,663 है जो राज्य की जनजातीय जनसंख्या का 1.77 प्रतिशत है, इनमें सबसे अधिक आबादी 31,764 रांची जिला एवं सबसे कम आबादी 75 कोडरमा जिला में निवसित हैं।

सरकारी योजनाओं द्वारा महली जनजाति विकास

सरकारी योजनाओं द्वारा इन्हें रोजगार से जोड़ा जा रहा ,महली जनजाति का मुख्य कार्य बांस पर निर्भर होता है. वहीं, खाने एवं स्वस्थ्य रहने के लिए ये साग का उपयोग बहुतायत में करते हैं. साग में औषधीय गुण होने के चलते यह उसका विभिन्न प्रकार से प्रयोग करते हैं. इसलिए बांस एवं साग की खेती से इन्हें जोड़कर इनके आर्थिक विकास की असीम संभावनाओं को धरातल पर उतारने की यह एक छोटी कोशिश है.

Q. महली जनजाति किस प्रजाति से संम्बधित है?

ANS = प्रोटो ऑस्टेलायड प्रजाति

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *